नाले में 40 घंटे फंसी रही गाय, सूचना के बाद भी नहीं पहुंचे निगमकर्मी

नाले में 40 घंटे फंसी रही गाय

स्थानीय लोगों ने अपने प्रयासों से गाय को सुरक्षित निकाला

( # media chakra, # news in hindi, # मीडिया चक्र, # हिंदी समाचार,)

जयपुर के दुर्गापुरा इलाके में नाले में गिरकर फंसी गाय

जयपुर। राजधानी जयपुर के दुर्गापुरा इलाके में नाले में गिरकर फंसी गाय को निकालने को लेकर जयपुर नगर निगम की लापरवाही और कार्यशैली को लेकर निगम पर एक बार फिर से सवालिया निशान लग गया। सूचना के बाद निगम के मानसरोवर जोन से दो कर्मचारी मौके पर आये और संसाधन लाने की बात कहकर वापस लौट गए। स्थानीय पार्षद पति मौके से बार-बार फोन करके निगम अधिकारियों और कर्मचारियों से संसाधन भेजने की गुहार करते रहे, लेकिन निगमकर्मियों और अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। यहां तक कि महापौर अशोक लाहौटी को भी फोन किया गया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। दूसरी ओर सूचना मिलते ही कपिल वाजपेयी के नेतृत्व में हेल्प इन सफरिंग की टीम और विष्णु लाम्बा के नेतृत्व में कल्पतरू संस्था की टीम स्थानीय लोगों की मदद को तत्काल पहुंच गई। इस दौरान सैकडों लोग मौके पर जमा हो गये और नगर निगम की कार्यशैली को लेकर अपना आक्रोश जताया।

कल्पतरू संस्था के विष्णु लाम्बा और हेल्प इन सफरिंग के कपिल वाजपेयी अपनी टीम के साथ वहां पहुंचे

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शनिवार रात करीब दस बजे गाय अर्जुन नगर मोड़ पर पीपा फैक्ट्री चौराहे के पास खुले पड़े नाले में किसी तरह गिर गई। उसके बाद वह नाले के अंदर होती हुई विष्णु विहार के मकान संख्या एक के सामने आकर फंस गई। नाले ऊपर से ढंके होने के कारण किसी को गाय के फंसे होने का पता नहीं चला। आज सुबह करीब दस बजे स्थानीय युवक सोनू जब वहां से निकल रहा था तो अचानक उसकी नजर रोड साइड में खुले नाले के झरोखे पर पड़ी जिसमें से उसे गाय का चेहरा नजर आया। उसने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी। देखते ही देखते वहां बड़ी संख्या में भीड़ जमा हो गई। इसके बाद लोगों ने उसे हरा चारा, ब्रेड, रोटियां आदि खिलाई और किसी तरह पानी पिलाया। इस दौरान नगर निगम को गाय नाले में फंसी होने की सूचना दी गई। स्थानीय पार्षद हुकुम कंवर के पति शम्भूसिंह भी मौके पर पहुंचे, लेकिन अनेक बार फोन करने के बाद भी नगर निगम की टीम नहीं पहुंची।

निजी जेसीबी वाले को बुलाकर गाय को सुरक्षित निकाला

स्थानीय लोगों के अनुसार करीब एक घंटे बाद नगर निगम के मानसरोवर जोन से दो कर्मचारी मोटरसाईकिल पर वहां आए और निगम की टीम और जेसीबी लाने की बात कहकर वहां से चले गए। इस दौरान कल्पतरू संस्था के विष्णु लाम्बा और हेल्प इन सफरिंग के कपिल वाजपेयी अपनी टीम के साथ वहां पहुंचे और स्थानीय लोगों की मदद से एक निजी जेसीबी वाले को बुलाकर नाले के ऊपर से फेरो कवर और पट्टियां हटवाकर गाय को निकालने का प्रयास किया। इस दौरान अनेक घरों में जाने वाली पानी की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। करीब तीन घंटे के अथक प्रयासों के बाद गाय को नाले से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

यहां आवारा गायें बड़ी संख्या में सड़क पर घूमती रहती हैं

जिस समय जेसीबी से नाले के ऊपर की पट्टियां हटाई जा रही थीं उस दौरान जेसीबी के अगले हिस्से की चपेट में आने से कपिल वाजपेयी नाले में जा गिरे। उन्होंने अपना नियंत्रण बना लिया जिससे उन्हें किसी तरह की चोट नहीं आई, वरना बड़ा हादसा हो सकता था। गाय के नाले से निकलते ही स्थानीय लोगों ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए भारत माता और गाय माता की जय के नारे लगाये।

गाय के नाले से निकलते ही स्थानीय लोगों ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए नारे लगाये

गौरतलब है कि पिछले दिनों गाय की मार से हुई एक विदेशी पर्यटक की मौत के बाद नगर निगम ने उच्चस्तर पर आवारा घूम रही गायों को पकड़ने के लिए व्यापक अभियान चलाया था, लेकिन इस घटना को देखते हुए लगता है कि आवारा घूम रही गायों को पकड़ने को लेकर नगर निगम का जोष अब ठंडा पड़ चुका है। जिस जगह गाय नाले में फंसी हुई थी वहां से कुछ दूरी पर ही अनेक गाय सड़क के किनारे खड़ी हुई थीं। स्थानीय लोगों का आरोप है कि यहां आवारा गायें बड़ी संख्या में सड़क पर घूमती रहती हैं, लेकिन अनेक बार निगमकर्मियों को शिकायत करने के बाद भी इनको पकड़ने के कोई प्रयास नहीं किये जाते हैं।

** वीडियो देखें और YouTube पर Media Chakra (मीडिया चक्र) को Subscribe करें…
** आप Media Chakra (मीडिया चक्र) को Facebook, twitter, Google+ पर भी फॉलो कर सकते हैं। मीडिया चक्र पर विस्तृत समाचार पढ़ने के लिए www.mediachakra.com पर login करें।

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on Twitter

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*