साहित्यकार आफरीदी, उमा और तसनीम को दिया चंदबरदाई सम्मान

बैंक नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति का आयोजन

जयपुर। बैंक नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, जयपुर की ओर से साहित्य एवं कला जगत के विभिन्न क्षेत्रों में हिन्दी भाषा को नव स्वरूप एवं गति प्रदान करने वाली महत्वपूर्ण हस्तियों को चंदबरदाई भाषा सम्मान से सम्मानित किया गया। वर्ष 2019 का चंदबरदाई भाषा सम्मान मुख्यमंत्री अशोक गहलोल के विशेषाधिकारी वरिष्ठ साहित्यकार एवं व्यंग्य लेखक फारुक आफरीदी, राजस्थान पत्रिका की वरिष्ठ उप संपादक वरिष्ठ पत्रकार एवं कथाकार ‘किस्सागोई’ फेम लेखिका उमा, वरिष्ठ रंगकर्मी भगवंत कौर मिन्हास और राजस्थान पत्रिका की वरिष्ठ उप संपादक युवा रचनाकार तसनीम खान को दिया गया।

चंदरबरदाई भाषा सम्मान से सम्मानित हस्तियों को सम्मानित करने से पहले श्रीमती अनु शर्मा, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, श्रीमती सोनिया चौधरी, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, सुश्री रीनू मीना, सिंडीकेट बैंक और सुश्री शिखी शर्मा, इलाहाबाद बैंक ने उनके सम्मान में प्रशस्ति पाठ किया।
जयपुर के इन्द्रलोक सभागार में आयोजित राजभाषा समारोह की शुरूआत दीप प्रज्ज्वलन एवं सरस्वती वंदना से हुई। राजभाषा समिति के अध्यक्ष महेंद्र एस. महनोत ने मंचासीन अतिथियों का पुष्प गुच्छ से स्वागत किया। उन्होंने अपने उद्बोधन में बताया कि अधिकतर बैंककर्मी वर्तमान में अपने ग्राहकों के साथ हिंदी में संवाद को प्राथमिकता दे रहे हैं। समारोह के मुख्य अतिथि गृह मंत्रालय के सहायक निदेशक नरेंद्र मेहरा थे एवं अध्यक्षता राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान, जयपुर के प्रधानाचार्य साहित्यकार, आलोचक, चिंतक अर्कनाथ चौधरी ने की।

इस अवसर पर सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के तहत नाबार्ड की ओर से रवीन्द्र शर्मा एवं प्रियंका दादाणी ने हिमाचली लोकगीत ‘साहिल स्वांगला’ और सिंडीकेट बैंक की ओर से गीत ‘देवरत’ की सुमधुर प्रस्तुति दी। समारोह में वर्ष 2019 के दौरान आयोजित राजभाषा प्रतियोगिता के विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया। समारोह में बड़ी संख्या में विभिन्न बैंकों के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे। समिति के उपाध्यक्ष योगेश अग्रवाल ने अंत में सभी आगुन्तकों को आभार व्यक्त किया।

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on Twitter

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*