बढ़ रहा है चलन वीकेंड टूरिज्म भारत में

(आयुषी मिश्रा/मीडिया चक्र)
नई दिल्ली। भारत में सिटी टूर का ट्रेंड बढ़ रहा है। शहरों और पर्यटन स्थलों को सैलानी मिल रहे हैं। घूमने की जगह शहर में हो या शहर से कुछ दूर, सैलानी खुली सीमाओं, सस्ती टिकटों और किफायती होटलों का फायदा उठा कर घूमने का भरपूर मजा ले रहे हैं। बढ़ते वीकेंड टूरिज्म से लोगों को रोजगार भी मिल रहा है।
देश में वीकेंड पर अपने शहर के पास की किसी खूबसूरत जगह पर घूमने का प्लान बनाना बहुत आम बात हो गयी है। नयी जगह घूमने जाने के लिए लंबी छुट्टियों का इंतजार करने की जगह लोग परिवार के साथ वीकेंड पर नजदीक के सुंदर शहरों और पर्यटन स्थलों में जाना पसंद करने लगे हैं। शहर घूमने जाने का फायदा यह कि न केवल वहां कुछ नया देखने को मिलता है बल्कि शॉपिंग और खाने पीने के शौकीन भी खुश हो जाते हैं। दिल्ली, आगरा, उदयपुर, जयपुर, माउंट आबू, मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद, बैंगलुरू, कोलकाता, गोवा, भोपाल, कोट्टायम, कोच्चि, भुवनेश्वर, कश्मीर, मनाली, शिमला, देहरादून सहित देश में अनेक ऐसे शहर और पर्यटन स्थल है जिनका ऐतिहासिक और पुरा महत्व होने के साथ-साथ पर्यटन स्थल के रुप में अपना एक अलग स्थान है। जिसके चलते ये स्थान सबके पसंदीदा रहे हैं। फ्लाइट्स के टिकट सस्ते होने और होटल पोर्टल के आने से पर्यटकों को आसानी से उपलब्ध जानकारी के चलते भी वीकेंड टूरिज्म को बढ़ावा मिल रहा है।
दिल्ली में लाल किला, जामा मस्जिद, कुतुब मीनार सहित अनेक जगह जहां सैलानियों की पहली पसंद हैं, वहीं यहां के बाजार और खान-पान भी सैलानियों को लुभाते हैं। आगरा का ताजमहल और आगरा फोर्ट सैलानियों के घूमने की पसंदीदा जगह मानी जाती है। बात करें राजस्थान की तो जयपुर, जोधपुर, चित्तौड़ के किलों के अलावा बाड़मेर, जैसलमेर के धोरे सैलानियों को अपनी ओर खींचते हैं। गर्मियों में माउंट आबू आस पास के लोगों के लिए वीकेंड पर तफरीह करने का सबसे अच्छा स्थल है, बिल्कुल वैसे ही जैसे मुंबई के लोगों के लिए खण्डाला। झीलों की नगरी उदयपुर भी सैलानियों को लुभाती है। भोपाल के ताल और पुराना शहर के अलावा सांची के स्तूप, ग्वालियर का किला, उज्जैन नगरी आज भी अपनी ऐतिहासिक विरासत को सहेजे हुए हैं। माया नगरी मुबंई रातों को रौशन करती दिखाई पड़ती है। गोवा देश का बहुत बड़ा आकर्षण बन चुका है। आसानी से मिलने वाले हवाई टिकट और होटलों में जगह ने ऐसे स्थलों पर घूमने के पर्यटकों के फैसले को और भी आसान बना दिया है।
पर्यटन विशेषज्ञों का मानना है कि वीकेंड टूरिज्म पिछले सात-आठ सालों में खूब लोकप्रिय हो रहा है। हर साल ऐसे लोगों की तादाद बढ़ती जा रही है, जो केवल बड़े शहरों में ही नहीं बल्कि कई मझौले और छोटे शहरों में भी पहुंच रहे हैं। ऐसे ठिकाने देश विदेश से पर्यटकों को अपनी ओर खींच रहे हैं। देश के अनेक शहर और पर्यटन स्थल अपनी शानदार इमारतों, समुद्र, नदियों और महान इतिहास के कारण सबसे बड़े सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। जम्मू-कश्मीर में तमाम आतंकी हमलों या खतरों के बावजूद टूरिस्ट पहुंचते हैं। स्थानीय लोग भी इस ट्रेंड का फायदा पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए उठा रहे हैं और इससे उनकी अच्छी खासी आमदनी हो रही है। पर्यटक भी आ रहे हैं क्योंकि म्यूजियम हो, होटल या पार्टी करने के लिए रेस्तरां, सब कुछ इन जगहों पर उपलब्ध हो जाता है। दो दिन में इन सब का मजा लिया जा सकता है।

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on Twitter

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*